View : English | | | | | | |


घरेलु नुसखे तथा ‘होम हर्बल गाड्र्न (घर ट्ट आँगन में जडी बूटियाँ)
 

इस वैबसाइट के बारे में

वैबसाइट की विशेषताए प्रकृतिक तरिके से इस वैबसाइट का निर्माण स्वास्थ जीवन तथा रहन सहन के लिये किया गया है| सभी उपाय तथा परामर्श प्राथमिक स्वास्थय तथा उपचार को ध्यान में रखकर दिये गये हैं|

इस वैबसाइट में दी गई सारी जानकारी चिकित्सा शस्त्रों (आयुर्वेद, सि, युनानी तथा सो-रिग पा) से ली गई है इसलिये यह मान्य है| जहाँ तक रोगों का सवाल है, सिर्फ छोटे-मोटे रोगों की ही जिन्का स्वयं उपचार तथा इलाज आसानी से किया जा सके| गंभीर रोग तथा लगतार रहने वाली बीमारियों का जिक्र जानबूझकर नहीं किया गया है|

प्राथमिक स्वास्थ्य संबधी रोग (बीमारियों) को निम्न भागों में बाँटा गया हैं:

१. आम बीमारियों (पेट में जलन, पैरों का जलना, कब्ज, कफ, घाव, डायरिया, बुखार, सिरदर्द, गला बैठना, अपचन, आँखों में जलन, पेट दर्द, मूत्र संबधी परेशानी, उल्टी, चक्कर आना, पेट में कोडे इत्यादि|
२. नारी स्वास्थ्य ट्ट गर्भ तथा योनि की बीमारी प्रसूति, दूध तथा मासिक धर्म संबधित रोग.
३. स्वास्थय (रोग से लड्ने की क्षमता, मानसिक तथा गुर्दे की ट्~ओनिक, बालों की रक्षा) इस वैबसाइट में उर्पयुक्त पेड-पौधे/जडी ट्ट बूटियों का चलन इस आधार पर किया है|

वनस्पती आणि त्यांचे वेगवेगळे भाग खालील पध्दति नुसार निवडले आहेत:

- पेड पौधो/जडी बूटी जिसका दवाई के रुप में इस्तेमाल जाँचा ट्ट परखा जा चुका है| उनका इस्तेमाल सिर्फ प्रथमिक उपचार तक ही सीमित है|
- पेड की सुनित पहचान की जा चुकी हो (एक ही नाम से जाने वाले दो पेड की प्रजतियों का जिक्र नहो किया गया है|
- सिर्फ उन्हीं पेड-पौधों/जडी-बूटियों का जिक्र है जिन्से सुरक्षा को जोडा जा सके
- पेड के भाग/हिस्से का वर्णन जो इस्तेमाल में लाया जा सके
- एक पेड को अनेक रोग/बिमारियों में इस्लेमाल किया जा सके
- आसानी से घर-आँगन में उगाया जा सके आसानी से देख्भाल की जा सके शोभा बढाने योग्य आसानी से उप्ल्भता

इस वैबसाइट में क्या नहीं है?


इस वैबसाइट में दी गई जनकारी एक ड्~ओकटर की सलाह का स्थान नही ले सकती| अगर आपको अपनी बिमारी के बारे में कोई भी शंका हो तो तुरंत एक कुशाल ड्~ओकटर की सलाह लें|

‘घरेलु नुस्खे’: आपके पास फाऊँडेशन फार रिवाइटलाईजेशन आफ लोकल हेल्थ ट्रेडीशंस (एफ आर एल एच टी) द्वारा.

 

अम्रुथ होम गार्डन